BusinessesNetwork MarketingNetwork Marketing Books

भारत में अधिकांश स्टार्टअप बिजनेस फैल क्यों होते हैं? | Why are many startups failing in India – Kaise India Finance

Why startups fail in India : सफलता और असफलता के बीच थोड़ा ही फासला होता है, दोनों ही मेहनत करने वालो को मिलती है. बस कुछ गलतियों और नादानियों के चलते ये फर्क रह जाते हैं. एक सफल व्यक्ति को सब जानने लगते हैं लेकिन असफलता पाने वाले व्यक्ति को कोई नहीं समझ पाता है. हालांकि दोनों ने अपने स्तर पर मेहनत भी की होती है लेकिन कुछ फैक्टर्स की वजह से एक असफलता की तरफ चला जाता है.

क्या आप भी बनना चाहते हैं करोड़पति? तो शेयर मार्केट के बारे में जानकारी के लिए ➤
Whastapp Channel से जुड़ें!

स्टार्टअप बिजनेस में भी ऐसी बहुत सी कहानियां हैं जो हमारे सामने आने से पहले ही असफल हो जाती हैं. बहुत से लोग किसी को देखकर स्टार्टअप शुरू तो कर लेते हैं लेकिन उस बिजनेस की समझ ना होने के कारण, बिना किसी बिजनेस रिसर्च के शुरू करने के कारण असफल हो जाते हैं. अगर हम भारत में देखें तो केवल 10 प्रतिशत स्टार्टअप ही सफल होते हैं. ऐसे में बहुत से लोग सोचते हैं कि आखिर ये स्टार्टअप बिजनेस फैल क्यों होते हैं.

दुनिया की टॉप बिजनेस यूनिवर्सिटी के सर्वे के अनुसार इंडियन स्टार्टअप के फैल होने का सबसे बड़ा कारण हैं, इन्नोवेटिव आइडिया की कमी. एक बेहतर स्टार्टअप आइडिया ना होने के कारण 90% स्टार्टअप की शुरूआती 5 साल में ही कमर टूट जाती है और धाराशायी हो जाते हैं.

Why startups fail in India

महत्वपूर्ण बिन्दू

दोस्तों, आज हम आपको कुछ ऐसे कारण बताएंगे जिनके कारण इंडिया स्टार्टअप बिज़नेस जल्दी ही दम तोड़ देते हैं.

1. टीम में अच्छा तालमेल न होना

कोई भी स्टार्टअप बिजनेस तभी सफल होता है, जब उसमें काम करने वाली पूरी टीम के बीच अच्छा व्यवहार हो, और आपसी सामंजस्य भी बेहतर हो. अगर टीम में आपसी तालमेल गड़बड़ा जाता है तो ये स्टार्टअप बिजनेस को फैल कर सकता है. अगर टीम मेंबर्स में ज्यादा ही नोकझोंक होने लगे तो अच्छे सेअच्छे स्टार्टअप का गिरना पका है.

अक्सर देखा जाता है कि नए स्टार्टअप बिजनेस में आपसी साजिश, रंजिश और राजनीती जैसी कई चीजे प्रभावित करती है. ये बिजनेस के ग्रोथ में काफी अड़चन लेकर आती हैं. आप अपनी टीम को एकजुट रखने के लिए हमेशा प्रयत्न करते रहें और उन्हें एकसाथ रहने के लिए प्रेरित करें. उन्हें कुछ सामूहिक कार्य देकर टीम की ताकत समझा सकते हैं. अगर आपकी टीम मजबूत है तो आप अपने स्टार्टअप बिजनेस में सफलता हासिल करोगे.

  • टीम में आपसी समझ और सहयोग की कमी स्टार्टअप के लिए घातक हो सकती है।
  • नोकझोंक, रंजिश और राजनीति जैसे कारकों से बिजनेस की वृद्धि बाधित होती है।
  • टीम को एकजुट रखने और प्रेरित करने के लिए प्रयास करना आवश्यक है।

2. स्टार्टअप बिजनेस की जगह बदलते रहना

अगर आप अपने स्टार्टअप बिजनेस का स्थान बार-बार बदलते हैं तो ये आपके स्टार्टअप के फैल होने मुख्य कारण हैं. हम जल्दबाजी में अपना स्टार्टअप बिजनेस बिना सोचे समझें खिन भी शुरू कर देते हैं. आपके पास एक बेहतर बिजनेस प्लान न होने के कारण ऐसी गलतियाँ हो जाती हैं. फिर आपको अपने बिजनेस का स्थान बदलना पड़ता है जिसका नुकसान आपके स्टार्टअप को उठाना पड़ता है. अगर ये बार बार होता है तो आपके स्टार्टअप बिजनेस का फैल होन तय हो जाता है’.

इस समस्या से बचने के लिए आपको अपने बिजनेस स्टार्टअप के लिए मार्केट रिसर्च करने की आवश्यकता है. एक अच्छे बिजनेस स्थान का चुनाव ही आपके स्टार्टअप बिजनेस कोअच्छी ग्रोथ दिला सकता है. अपने बिजनेस स्टार्टअप के लिए हमेशा कुछ न कुछ नया सीखते रहें और अपनी टीम के साथ जुड़ें रहें. आप अपनी टीम के बॉस न बनकर एक लीडर की तरह रहें और उन्हें गाइड करें.

  • बिना सोचे-समझे स्थान बदलने से स्टार्टअप को नुकसान होता है।
  • मार्केट रिसर्च और योजना के आधार पर स्थान का चुनाव महत्वपूर्ण है।
  • स्थान बदलने से जुड़ी अस्थिरता से बचें।

3. क्वालिटी पर ध्यान ना देना

स्टार्टअप आइडिया कितना ही अच्छा क्यों न हो, अगर आप प्रोडक्ट या सर्विस क्वालिटी पर ध्यान नहीं देते हैं तो ये कारण आपके स्टार्टअप बिजनेस को कभी उठने नहीं देगा. आजकल सबको हर चीज बेहतरीन चाहिए, क्वालिटी के साथ कोई भी समझौता नहीं करता है. आप खुद मार्केट जाकर कभी खराब क्वालिटी का प्रोडक्ट लेकर आते हैं क्या, ऐसे ही सभी लोग होते हैं.

इंडियन लोगों को कम से कम कीमत में अच्छी से अच्छी क्वालिटी चाहिए, अगर आप कस्टमर को खुश कर देंगे तो फिर आपके स्टार्टअप को कोई रोकने वाला नहीं है. हमेशा अपने कस्टमर को अहमियत दें, क्योंकि वो ही आपके बिजनेस को सफल या असफल बनाता है, जिस स्टार्टअप बिजनेस ने कस्टमर के चेहरे पर मुस्कान लाने में कामयाबी हासिल कर ली, उस बिजनेस बहुत कम समय में सफल होना तय है.

  • उत्पाद या सेवा की गुणवत्ता ग्राहक अनुभव और सफलता के लिए महत्वपूर्ण है।
  • भारतीय ग्राहक कम कीमत में भी अच्छी गुणवत्ता चाहते हैं।
  • गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करके ग्राहकों को खुश और आकर्षित करें।

4. सही स्ट्रेटेजी  बनाना

हम अपने नये स्टार्टअप बिजनेस के लिए अच्छी स्ट्रेटेजी बनाने में कामयाब नहीं हो पाते हैं, ऐसे में हमारे अच्छे से अच्छे स्टार्टअप आइडिया का फैल होना तय हो जाता है. किसी भी स्टार्टअप बिजनेस को नई ऊंचाईयों पर ले जाने के लिए सही प्लानिंग की जरूरत होती है. आपकी मजबूत और सही स्ट्रेटेजी होनी चाहिए और उसे अपनाने के समय में भी कभी देर नहीं करनी चाहिए. अगर आप देरी करते हैं और गैप रह जाताहै तो ये स्टार्टअप के लिए नुकसानदायक रहेगा. जब तक टीम मेंबर्स को समय समय पर काम नहीं मिलेगा और उन्हें नहीं पता रहेगा की आगे क्या करना है तो उस स्थिति में बिजनेस का पीछे रहना तय हो जाता है. अगर आप अपनी टीम से 100% चाहते हैं तो सही स्ट्रेटेजी बनाने पर फोकस करें.

  • सफलता के लिए एक मजबूत और स्पष्ट रणनीति आवश्यक है।
  • योजना में सभी पहलुओं (जैसे उत्पाद विकास, मार्केटिंग, वित्त) को शामिल करें।
  • समय पर आवश्यक बदलाव करने के लिए तैयार रहें।

5. जल्दी प्रोफिट कमाने के चक्कर में पड़ना

आजकल सभी को जल्दी से जल्दी पैसा चाहिए, किसी को भी इंतजार करना बिल्कुल पसंद नहीं है. ऐसे में लोग बिना किसी बिजनेस प्लान और स्ट्रेटेजी के अपना स्टार्टअप शुरू कर देते हैं. फिर शुरुआत में ही लाखों रूपये कमाने के सपने लेने लगते हैं. लेकिन हकीकत में ऐसा होना मुश्किल है, ज्यादातर बिजनेस तो ऐसे ही फैल हो जाते हैं. किसी बिजनेस की होड़ में बिना किसी पूर्व प्लानिंग के कोई भी प्रोडक्ट मार्केट में लेकर आ जाते हैं और फिर नुकसान उठाते हैं. जब ज्यादा नुकसान होजाता है तो उन्हें अपना स्टार्टअप बिजनेस बंद करना पड़ता है.

  • धैर्य और योजना के बिना जल्दी लाभ कमाने की कोशिश विफलता का कारण बन सकती है।
  • स्टार्टअप में समय लगता है, इसलिए धैर्य रखें और योजना पर ध्यान दें।
  • जल्दबाजी में लिए गए निर्णयों से बचें।

निष्कर्ष:

सफलता प्राप्त करने के लिए, स्टार्टअप को इन गलतियों से बचना चाहिए और एक मजबूत योजना, टीम वर्क, गुणवत्ता और धैर्य पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

किसी भी स्टार्टअप आइडिया में लोग उसकी अच्छी बातें ही देखते हैं और उसमें आने वाली मुसीबतों को नहीं देख पाते हैं. ऐसे में बहुत सी कमियां भी छुपकर रह जाती है. जब वे बिजनेस शुरू करते हैं तो उन्हें समझ नहीं आता है कि इन समस्याओं से कैसे निपटे और फिर उनका स्टार्टअप निपट लेता है. आप हमेशा स्टार्टअप शुरू करने से पहले पूरी प्लानिंग कीजिए, कम से कम आपके पास अगले 3 से 5 साल की स्ट्रेटेजी होनी चाहिए. जिससे आप अपने स्टार्टअप को अच्छे स्तर पर ले जा सको.

आज का ये लेख आपको कैसा लगा, हमें कमेंट कर जरूर बताएं. साथ ही निचे दिए रेटिंग सेक्शन में जाकर उचित रेटिंग भी दें. आपकी राय हमारे लिए आवश्यक हैं. हम हमेशा ऐसे ही टॉपिक पर चर्चा करते रहते हैं.

FAQs

  1. भारत में अधिकांश स्टार्टअप बिजनेस क्यों फैल जाते हैं?

    सबसे जरूरी है टीम में अच्छा तालमेल और सहयोग। आपसी लड़ाई-झगड़े से बिजनेस नहीं चलेगा।

  2. स्टार्टअप बिजनेस क्या है?

    एक स्टार्टअप एक नवजात व्यवसाय है जो तेजी से विकास और सफलता के लिए प्रेरित होता है। यह आमतौर पर एक अभिनव विचार या उत्पाद पर आधारित होता है और इसमें उच्च जोखिम और उच्च पुरस्कार शामिल होते हैं।

  3. स्टार्टअप बिजनेस में असफल होने के क्या कारण हैं?

    अनुचित योजना: व्यवसाय योजना की कमी या अपर्याप्त योजना असफलता का एक प्रमुख कारण है।
    अनुभव की कमी: व्यवसाय चलाने के लिए आवश्यक अनुभव और कौशल की कमी भी असफलता का कारण बन सकती है।
    वित्तीय गलत प्रबंधन: खराब वित्तीय प्रबंधन और धन की कमी भी स्टार्टअप को विफल कर सकती है।
    बाजार की गलतफहमी: अपने लक्षित दर्शकों और बाजार की गतिशीलता को न समझना भी असफलता का कारण बन सकता है।
    प्रतिस्पर्धा से हार: प्रतिस्पर्धा से निपटने में असमर्थता भी स्टार्टअप को विफल कर सकती है।

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button