BusinessesNetwork MarketingNetwork Marketing Books

Digital Marketing Kaise Ki Jaati Hai? आसान भाषा में जानिए

Digital Marketing Kaise Ki Jaati Hai? क्या आप इसी प्रश्न के उत्तर को ढूंढते हुए यहां तक पहुंचे हैं? अगर हां तो आप एक बेहतरीन लेख तक पहुंच चुके हैं।

डिजिटल मार्केटिंग आधुनिक व्यापार परिदृश्य का एक अनिवार्य घटक बन गया है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि यह कैसे हुआ? आज की परस्पर जुड़ी दुनिया में, जहां सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और ऑनलाइन विज्ञापन हमारे दैनिक जीवन पर हावी हैं, डिजिटल मार्केटिंग का विकास एक दिलचस्प कहानी है।

अल्पविकसित ऑनलाइन बैनर ads के रूप में इसकी सामान्य शुरुआत से लेकर आज के विपणक द्वारा नियोजित परिष्कृत डेटा-संचालित रणनीतियों तक, डिजिटल मार्केटिंग के जन्म और विकास को समझना इस गतिशील उद्योग में अपनी पहचान बनाने के इच्छुक किसी भी व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है।

तो, आइए डिजिटल मार्केटिंग की उत्पत्ति और विकास के बारे में गहराई से जानें कि यह सब कैसे शुरू हुआ और यह आज भी हमारी डिजिटल दुनिया को कैसे आकार दे रहा है।

Digital Marketing Kaise Ki Jaati Hai?

महत्वपूर्ण बिन्दू

डिजिटल मार्केटिंग कैसे की जाती है? डिजिटल मार्केटिंग का हिंदी में मतलब होता है “डिजिटल प्रचार या विपणन”। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें इंटरनेट और इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों का उपयोग करके उत्पादों और सेवाओं की प्रचार और प्रसार किया जाता है। 

डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से विभिन्न तकनीकें जैसे सोशल मीडिया, ईमेल, वेबसाइट, अनुखोलन, विज्ञापन और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन का उपयोग किया जाता है ताकि लक्षित ग्राहकों तक जानकारी पहुंच सके और उन्हें उत्पादों या सेवाओं के बारे में संदेह के साथ उपसर्ग किया जा सकें। 

यह Marketing प्रक्रिया व्यापारों के लिए उच्च प्रभावशील होती है और नए ग्राहकों को आकर्षित करने में मदद करती है।

तकनीकविवरण
एसईओ (SEO)वेबसाइट को सर्च इंजन रैंकिंग को बेहतर बनाने के लिए अनुकूलित करना।
सोशल मीडिया मार्केटिंग (SMM)सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर प्रचार और विज्ञापन करना।
पेपर-पर-क्लिक मार्केटिंग (PPC)गूगल ऐडवर्ड्स जैसे प्लेटफ़ॉर्म पर विज्ञापन करना।
कंटेंट मार्केटिंगब्लॉग, इन्फोग्राफिक्स, वीडियो बनाना और साझा करना।
ईमेल मार्केटिंगन्यूज़लेटर और प्रचारित ईमेल भेजना।
मोबाइल मार्केटिंगऐप्स, एसएमएस, और मोबाइल साइट के माध्यम से मार्केटिंग।
एफिलिएट मार्केटिंगदूसरे ब्रांड के उत्पादों या सेवाओं का प्रचार करना।
एनालिटिक्समार्केटिंग अनुसंधान के लिए वेबसाइट डेटा विश्लेषण।

Digital Marketing Kaise Kare In Hindi

क्या आपने कभी सोचा है कि एक डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट का क्या क्या कार्य होता है?डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट की भूमिका बहुत व्यापक होती है, जिसमें निम्न मुख्य कार्य शामिल होते हैं:

डिजिटल मार्केटिंग रणनीति और योजना बनाना – लक्ष्य, बजट, प्लेटफॉर्म, मार्केटिंग मिक्स को तय करना।

कंटेंट क्रिएशन और मैनेजमेंट – वेबसाइट, ब्लॉग, सोशल मीडिया कंटेंट बनाना और पोस्ट करना।

SEO और कीवर्ड रिसर्च – कीवर्ड रिसर्च, ऑन-पेज ऑप्टिमाइज़ेशन, बैकलिंक बिल्डिंग आदि।

पैड विज्ञापन – फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि पर विज्ञापन अभियान चलाना।

एनालिटिक्स और रिपोर्टिंग – वेबसाइट ट्रैफिक और मीट्रिक्स का विश्लेषण करना।

लीड जनरेशन – फॉर्म, ईमेल मार्केटिंग आदि से लीड जनरेट करना।

टूल्स और सॉफ्टवेयर का उपयोग – जैसे गूगल एनालिटिक्स, होस्ट्स आदि।

इस प्रकार एक्सपर्ट डिजिटल मार्केटिंग के सभी पहलुओं की देखरेख करता है और ब्रांड के लिए ऑनलाइन प्रीजेंस बढ़ाता है।

Digital Marketing Kaise Kiya Jata Hai?

डिजिटल मार्केटिंग एक विस्तृत क्षेत्र है जो इंटरनेट और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज़ का उपयोग करके उत्पादों और सेवाओं को प्रमोट करने के लिए किया जाता है। 

यह विशेष रूप से ऑनलाइन विचारधारा, ग्राहकों तक भेजी जाने वाली संदेशों, सामाजिक मीडिया, ईमेल, वेबसाइट, और अन्य digital माध्यमों के माध्यम से विभिन्न तकनीकों का उपयोग करता है। 

इसमें कई तरीके शामिल होते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

Search Engine Optimization (SEO) 

  • यह वेबसाइट को सर्च इंजन के लिए अनुकूल बनाने की प्रक्रिया है।
  • इसमें कीवर्ड रिसर्च, वेबसाइट की सामग्री में सुधार, टेक्निकल SEO जैसे पेज स्पीड आदि शामिल है।
  • जिससे वेबसाइट गूगल में ऊपर आती है और ट्रैफिक बढ़ता है।

यह एक तकनीक है जिसमें वेबसाइट को ऐसे अनुकूलित किया जाता है कि यह सर्च इंजन में उच्च रैंकिंग प्राप्त कर सकें। इसमें अच्छी कीवर्ड रिसर्च, वेबसाइट के अंदर का ओप्टिमाइजेशन, अच्छा कंटेंट, बैकलिंक निर्माण आदि शामिल होते हैं। 

उदाहरण के लिए, यदि आप  के पास एक डिजिटल मार्केटिंग कंपनी हो तो आपके वेबसाइट पर “डिजिटल मार्केटिंग सर्विसेज” जैसे कीवर्ड हो सकते हैं जो उपयुक्त ट्रैफिक प्रदान करते हैं।

Pay-per-Click (PPC)

  • इसमें गूगल, फेसबुक आदि पर विज्ञापन दिखाकर ट्रैफिक लाया जाता है।
  • प्रत्येक क्लिक पर कंपनी को शुल्क देना पड़ता है।
  • जैसे – गूगल ऐडवर्ड्स पर विज्ञापन।

इसमें विज्ञापन विज्ञापक द्वारा खरीदे जाते हैं और इन्हें उन लोगों को प्रदर्शित किया जाता है जो उन विज्ञापनों पर क्लिक करते हैं।

यह एक प्रभावी तकनीक है जो उदाहरण के लिए Google AdWords और Facebook Ads के माध्यम से काम करती है। 

यदि आप एक ई-कॉमर्स स्टोर चला रहे हैं, तो आप विशिष्ट उत्पादों के लिए विज्ञापन बना सकते हैं जो इच्छुक ग्राहकों को आपकी वेबसाइट पर ले जाने में मदद करेंगे।

Social Media Marketing (SMM)

  • फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर आदि सोशल मीडिया पर मार्केटिंग।
  • इंफ्लुएंसर मार्केटिंग, पोस्ट विज्ञापन आदि के जरिए।
  • ब्रांड की दृश्यता और पहुंच बढ़ाना।

यह टारगेट जनता को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के माध्यम से अपने व्यापार के बारे में बताने और उन्हें विशेषज्ञ समझाने का एक अच्छा तरीका है। इसमें विभिन्न सोशल मीडिया साइट्स पर विज्ञापन, पोस्ट, वीडियो, और स्टोरीज़ शामिल होते हैं। 

उदाहरण के लिए, एक फैशन ब्रांड विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए इंस्टाग्राम और ट्विटर के माध्यम से नए संस्करणों और नए समर्थन को लक्ष्य कर सकता है।

Content Marketing

  • ब्लॉग, वीडियो, इन्फोग्राफिक्स जैसी सामग्री के जरिए मार्केटिंग।
  • यूजर को शिक्षित करना और ब्रांड के बारे में जागरूकता।
  • जैसे – ट्यूटोरियल वीडियो।

इसमें अच्छी और उपयोगी कंटेंट के जरिए ग्राहकों को खींचा जाता है। यह कंटेंट विभिन्न रूपों में हो सकता है जैसे ब्लॉग पोस्ट, विडियो, ईबुक्स, इंफोग्राफिक्स आदि। 

इसमें ग्राहकों को समस्याओं का समाधान प्रदान करने, उन्हें शिक्षित करने और उन्हें विशेषज्ञ के रूप में बनाने का उद्देश्य होता है। 

उदाहरण के लिए, एक हेल्थकेयर कंपनी एक ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से सेहत के लाभ और फिटनेस के टिप्स शेयर कर सकती है।

Email Marketing

  • मेलिंग लिस्ट से प्रॉडक्ट/सेवा का प्रमोशन करना।
  • न्यूज़लेटर, डिस्काउंट ऑफ़र भेजना।
  • फॉलो-अप मेल भेजकर रिटेंशन बढ़ाना।

इसमें व्यापार ईमेल भेजकर ग्राहकों को सम्बोधित किया जाता है। यह एक बहुत प्रभावी और सस्ता तरीका है उपयोगकर्ताओं को नए उत्पादों, प्रोमोशन, और सैल्स की जानकारी प्रदान करने का त्वरित तरीका है। 

उदाहरण के लिए, एक ई-कॉमर्स स्टोर अपने पुराने ग्राहकों को द्वितीय सेल के लिए ईमेल कैंपेन भेज सकता है।

Mobile Marketing

  • मोबाइल ऐप्स, एसएमएस, मोबाइल वेबसाइट के जरिए मार्केटिंग।
  • आसानी से पहुंचना और उपयोगकर्ता अनुभव।
  • जैसे – मोबाइल गेम ऐप।

यह एक मार्केटिंग है जो मोबाइल उपकरणों, जैसे स्मार्टफोन और टैबलेट्स, का उपयोग करके किया जाता है। यह एक प्रसारण, एप्लिकेशन और मोबाइल वेबसाइटों के माध्यम से काम कर सकता है। 

उदाहरण के लिए, एक रिस्टोरेंट अपने स्मार्टफोन एप्लिकेशन के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को ऑफ़र्स, डील्स को संबोधित कर सकता है।

Marketing Analytics

  • वेबसाइट ट्रैफिक, सोशल मीडिया इंगेजमेंट, बिक्री आदि का विश्लेषण।
  • रिपोर्टिंग और मार्केट इंसाइट के आधार पर निर्णय लेना।
  • जैसे – गूगल एनालिटिक्स।

इसका उपयोग विभिन्न डिजिटल मार्केटिंग कैंपेन्स के प्रदर्शन और प्रभाव की मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है। 

इसमें विभिन्न मीट्रिक्स जैसे कि ट्रैफिक, संरचना दर, क्लिक दर, और कन्वर्जन दर जैसे फैक्टर्स का विश्लेषण होता है। यह डेटा मार्केटरों को उन्नत रूप से विज्ञापन योजना का निर्माण और उन्हें सही निर्णय लेने में मदद करता है।

Affiliate Marketing

  • दूसरी कंपनियों के प्रोडक्ट का प्रमोशन कर आय अर्जित करना।
  • ऑनलाइन वेबसाइट और सोशल मीडिया पर एफिलिएट लिंक शेयर करना।
  • जैसे – अमेज़न एफिलिएट प्रोग्राम।

इसमें विशिष्ट उत्पाद या सेवा के लिए अन्य वेबसाइटों और व्यक्तियों को उसे प्रमोट करने के लिए कमीशन दी जाती है। यह एक उपयोगी तकनीक है जो आपके उत्पाद या सेवाओं को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने में मदद करती है। 

उदाहरण के लिए, एक ऑनलाइन बुक स्टोर दुसरे वेबसाइटों के साथ संबद्ध होकर उनके अनुयायियों को अपने पुस्तकों की जानकारी प्रदान कर सकता है और उन्हें उपयुक्त लिंक्स के माध्यम से अपनी Website पर ले जा सकता है।

Digital Marketing Kaise Karna Chahiye?

डिजिटल मार्केटिंग कैसे करना चाहिए? डिजिटल मार्केटिंग करने के लिए निम्नलिखित टिप्स का प्रयोग कर सकते हैं:

अपने लक्ष्यों को परिभाषित करें: पहले से निश्चित करें कि आप डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से क्या प्राप्त करना चाहते हैं, जैसे अधिक सेल्स , ब्रांड पहचान की बढ़ोतरी, या वेबसाइट ट्रैफिक बढ़ाना।

लक्षित ग्राहकों की पहचान करें: अपने उत्पाद या सेवा का लक्षित ग्राहकों के लिए समझें और उन्हें पहचानें।

प्रत्येक डिजिटल माध्यम के लिए बजट तय करें: डिजिटल मार्केटिंग के अलग-अलग माध्यमों के लिए विज्ञापन या प्रचार के लिए बजट तय करें।

रुचिकर विषय सामग्री बनाएं: आकर्षक और मनोरंजक सामग्री बनाने के लिए अपने उत्पाद या सेवा से संबंधित विषयों पर विचार करें।

डिजिटल संपदाओं को मोबाइल के लिए अनुकूल बनाएं: अपनी वेबसाइट और सामग्री को मोबाइल यूजर्स के लिए सही तरीके से अनुकूलित करें।

कीवर्ड अनुसंधान करें: आपके उत्पाद या सेवा से संबंधित लोगों के लिए खोजशब्द या कीवर्ड अनुसंधान करें ताकि वे आपके विज्ञापन और सामग्री को आसानी से खोज सकें।

विश्लेषण के आधार पर परिवर्तन करें: अपने डिजिटल मार्केटिंग प्रयासों के परिणामों को विश्लेषण करें और उसे देखते हुए आवश्यक बदलाव करें।

डिजिटल मार्केटिंग का उपयोग करने के लिए तैयार हूँ: एक बार जब आप अपने लक्ष्य, लक्षित ग्राहकों, बजट, सामग्री, और विश्लेषण के साथ तैयार हो जाते हैं, तो आप डिजिटल मार्केटिंग का प्रयोग करने के लिए तैयार हैं।

Conclusion Points 

Digital Marketing Kaise Ki Jati Hai? डिजिटल मार्केटिंग में विभिन्न ऑनलाइन और मोबाइल माध्यमों का उपयोग किया जाता है। इसमें सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन, सोशल मीडिया मार्केटिंग, कंटेंट मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, मोबाइल ऐप्स, पेड विज्ञापन और एफिलिएट मार्केटिंग जैसे तरीके शामिल हैं।

एक बड़ा डिजिटल मार्केटिंग अभियान इन सभी का मिश्रण करके चलाया जाता है। एक्सपर्ट द्वारा सही रणनीति और विश्लेषण के साथ इन तकनीकों का इस्तेमाल कर ब्रांड की ऑनलाइन उपस्थिति और बिक्री में वृद्धि की जा सकती है।

My Opinion: डिजिटल मार्केटिंग का युग हमारे देश में तेज़ी से आ रहा है। अब लोग घर बैठे मोबाइल फ़ोन से ही ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं और सोशल मीडिया का भी बहुत इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे में कंपनियों को भी अपना पुराना तरीका बदलकर डिजिटल मार्केटिंग अपनानी चाहिए।

डिजिटल मार्केटिंग से कंपनियाँ अपने ग्राहकों तक सीधे पहुँच सकती हैं और उन्हें अपने नए प्रोडक्ट्स के बारे में जानकारी दे सकती हैं। सोशल मीडिया के ज़रिए लोगों को विज्ञापन दिखाकर भी बिक्री बढ़ाई जा सकती है। ग्राहकों से फ़ीडबैक लेने में भी आसानी होती है।

इसलिए मेरा मानना है कि, हर कंपनी को डिजिटल मार्केटिंग अपना लेनी चाहिए और इस क्षेत्र में निवेश करना चाहिए। आगे चलकर डिजिटल मार्केटिंग ही पारंपरिक मार्केटिंग की जगह लेगी और कंपनियों के लिए ज़रूरी हो जाएगी।

FAQs

1. डिजिटल मार्केटिंग क्या है?

डिजिटल मार्केटिंग उत्पादों या सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए वेबसाइट, सोशल मीडिया, सर्च इंजन, ईमेल और मोबाइल ऐप जैसे डिजिटल चैनलों और प्रौद्योगिकियों के उपयोग को संदर्भित करता है।

2. डिजिटल मार्केटिंग कैसे अस्तित्व में आई?

20वीं सदी के अंत में इंटरनेट के उदय के साथ डिजिटल मार्केटिंग का उदय हुआ। जैसे-जैसे प्रौद्योगिकी उन्नत हुई, व्यवसायों ने विज्ञापन और व्यापक दर्शकों तक पहुँचने के लिए ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग करना शुरू कर दिया।

3. कुछ सामान्य डिजिटल मार्केटिंग रणनीतियाँ क्या हैं?

सामान्य डिजिटल मार्केटिंग रणनीतियों में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ), सोशल मीडिया मार्केटिंग, कंटेंट मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, पे-पर-क्लिक (पीपीसी) विज्ञापन और प्रभावशाली मार्केटिंग शामिल हैं।

4. क्या डिजिटल मार्केटिंग के लिए तकनीकी  स्किल का होना जरूरी है?

हालाँकि तकनीकी स्किल होना फायदेमंद हो सकता है, लेकिन डिजिटल मार्केटिंग के लिए वे हमेशा आवश्यक नहीं होते हैं। बुनियादी कंप्यूटर साक्षरता और नए टूल और प्लेटफ़ॉर्म सीखने की इच्छा अधिक आवश्यक है।

5. क्या मैं हिंदी में डिजिटल मार्केटिंग कर सकता हूँ?

हाँ, आप डिजिटल मार्केटिंग हिंदी या किसी अन्य भाषा में कर सकते हैं। मुख्य बात यह है कि अपने दर्शकों को उनकी पसंदीदा भाषा में उनके अनुरूप सामग्री बनाकर प्रभावी ढंग से लक्षित किया जाए।

6. डिजिटल मार्केटिंग में उपयोग किए जाने वाले कुछ लोकप्रिय उपकरण क्या हैं?

डिजिटल मार्केटिंग में उपयोग किए जाने वाले कुछ लोकप्रिय टूल में वेबसाइट एनालिटिक्स के लिए Google Analytics, सोशल मीडिया प्रबंधन के लिए Hootsuite, ईमेल अभियानों के लिए Mailchimp और कीवर्ड अनुसंधान के लिए SEMrush शामिल हैं।

7. डिजिटल मार्केटिंग प्रयासों के परिणाम देखने में कितना समय लगता है?

डिजिटल मार्केटिंग प्रयासों के परिणाम देखने की समय-सीमा उद्योग, प्रतिस्पर्धा स्तर, बजट आवंटन और रणनीति कार्यान्वयन जैसे विभिन्न कारकों के आधार पर भिन्न हो सकती है। सामान्य तौर पर, महत्वपूर्ण परिणाम दिखना शुरू होने में कुछ महीने लग सकते हैं।

8. क्या डिजिटल मार्केटिंग अभियानों की प्रभावशीलता को मापना संभव है?

हां, डिजिटल मार्केटिंग का एक फायदा इसकी मापनीयता है। विभिन्न एनालिटिक्स टूल और ट्रैकिंग तकनीकों के माध्यम से, आप प्रमुख प्रदर्शन संकेतक जैसे वेबसाइट ट्रैफ़िक, रूपांतरण दर, क्लिक-थ्रू दर (CTR), और निवेश पर रिटर्न (आरओआई) को माप सकते हैं।

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button