BusinessesNetwork MarketingNetwork Marketing Books

Digital Marketing क्या है Digital Marketing की पूरी जानकारी

आपके सवाल – digital marketing in hindi,digital marketing क्या है,डिजिटल मार्केटिंग के लाभ फायदे और नुकसान ,डिजिटल मार्केटिंग में करियर कैसे बनाये ,डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार ,डिजिटल मार्केटिंग क्या है उदाहरण सहित समझाइए,डिजिटल मार्केटिंग की विशेषताएं,डिजिटल मार्केटिंग के सिद्धांत अदि।

आज के मार्केटिंग का सबसे बड़ा अहम हिस्सा डिजिटल मार्केटिंग ही है। डिजिटल मार्केटिंग आपके प्रोडक्ट को मार्केट करने में काफी सहायक साबित होता है। डिजिटल मार्केटिंग सबसे ट्रेंडी और सबसे अच्छा तरीका माना जाता है जिससे आप आज के समय में अपने प्रोडक्ट को मार्केट कर सकते है। आप अगर मार्केटिंग करना चाहते है तो आज मार्केटिंग करने का सबसे बड़ा टूल डिजिटल मार्केटिंग ही है। 

दोस्तों आज के समय में ये डिजिटल मार्केटिंग शब्द काफी सुनने में आता है तो आखिर ये डिजिटल मार्केटिंग क्या है ? दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग मार्केटिंग का ही एक पार्ट है। डिजिटल मार्केटिंग में किसी व्यापार(business) और सामान (product) का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस,ऑनलाइन और इंटरनेट की मदद से प्रचार किया जाता है या कोई सेवा प्रदान की जाती है। इसे डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है इन हिंदी? सरल शब्दो में कहें तो -किसी प्रकार के उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए इंटरनेट और ऑनलाइन आधारित डिजिटल तकनीकों जैसे कंप्यूटर ,मोबाइल फ़ोन व अन्य डिजिटल मीडिया प्लेटफार्मों जैसे फेसबुक ,यूट्यूब ,मोबाइल ऐप्प और सर्च इंजन का उपयोग करना डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है। मार्केटिंग का वो तरीका जिससे आप अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल के द्वारा प्रमोट कर सकते है। इसे ही डिजिटल मार्केटिंग कहते है। आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग सबसे सस्ता और सबसे ट्रेंडी तरीका माना जाता है। डिजिटल मार्केटिंग की शुरुवात तो 1990 के बाद से ही शुरू हो गया था। लेकिन कोविड के बाद से डिजिटल मार्केटिंग का एक अलग ही ट्रेंड नज़र आया है।

दोस्तों अक्सर बहुत सारे लोग इंटरनेट मार्केटिंग,वेब मार्केटिंग और ऑनलाइन मार्केटिंग के बारे में कंफ्यूज रहते हैं तो दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग को ही इंटरनेट मार्केटिंग,वेब मार्केटिंग और ऑनलाइन मार्केटिंग कहते हैं। आज के समय में लोग ऑनलाइन ,इंटरनेट और मोबाइल जैसे डिजिटल उपकरणों पर बहुत ज़्यदा निर्भर हो चुके हैं इसलिए बड़ी-बड़ी कंपनी और ब्रांड अपने प्रोडक्ट ,वस्तु और सेवा को अपने ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए डिजिटल मार्केटिंग का सहारा लेती है। उदाहरण के लिए आज के समय में लोग कोई भी सामान और सर्विस लेने से पहले सर्च इंजन (गूगल,यूट्यूब और मोबाइल ऍप्स) में उस प्रोडक्ट और सर्विस के बारे में जानकारी लेते है वहाँ पर उस product और service related कंपनी और ब्रांड अपने विज्ञापन को दिखाती है अगर customer को product पसंद आता है तो वह उसको खरीद लेता है इसी प्रोसेस को डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है। 

डिजिटल मार्केटिंग की शुरुआत (Digital marketing started):-

महत्वपूर्ण बिन्दू

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग की शुरुआत कैसे हुई इसको जानने के लिए हमें कुछ दसको पहले जाना होगा। डिजिटल मार्केटिंग शुरुआत टेक्नोलॉजी के विकास के साथ साथ हुई लेकिन सन 1990 और 2000 के बीच दशक में हमारी टेक्नोलॉजी में तेजी से बदलाव आये,कंप्यूटर भी पहले से बेहतर हो चुके थे कम्प्यूटर्स में स्टोरेज और प्रोसेसर में भी काफी सुधार हो गया था अब कंपनियों के लिए अपने ग्राहकों की जानकारी स्टोर करना आसान हो चूका था। कंपनियां अब नये नये online तरीके ढूढ़ने लग गयी थी जैसे डाटा बेस मार्केटिंग (database marketing) में कम्पनी कस्टमर्स की जानकारी को अपने डेटाबेस में स्टोर रखती है जिससे ग्राहक और बिक्रेता के बीच अच्छे संबंध बनाये जाये।

अब सन 2000 और 2010 के दशक में इंटरनेट उपयोगकर्ता के बढ़ने के साथ -साथ डिजिटल मार्केटिंग में भी काफी उछाल आया। लोग product और सामान खरीदने से पहले इंटरनेट उसके बारे में जानकारी लेने लग गए। 2012 और 2013 के आंकड़ों के मुताबिक डिजिटल मार्केटिंग में काफी तेजी से growth देखने को मिल रही थी। 2000 के दशक में, LinkedIn, Facebook, YouTube and Twitter जैसे सोशल मीडिया के विकास के साथ, उपभोक्ता दैनिक जीवन में डिजिटल और ऑनलाइन इंटरनेट पर अत्यधिक निर्भर होने लग गए थे।

बात करे 2015 से 2020 की तो भारत में डिजिटल मार्केटिंग के फील्ड में काफी तेजी से ग्रोथ देखने को मिली है इसकी मुख्य वजह भारत में jio free और internet रिचार्ज सस्ते होना है जिससे भारत में internet user की संख्या बहुत तेजी से बडी है  और आज के समय में ऑनलाइन इंटरनेट और डिजिटल मार्केटिंग तेजी से भारत में बढ़ रही है। 

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार ( types of digital marketing ):-

दोस्तों वैसे तो डिजिटल मार्केटिंग के बहुत सारे अलग अलग प्रकार हैं जिनसे के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग किया जाता है लेकिन मुख्य 7 प्रकार की होती है जो निम्नलिखित है –

1. सोशल मीडिया मार्केटिंग –

अपने प्रोडक्ट और सर्विस को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के मदद से प्रमोट करना। जैसे facebook ,youtube ,twitter etc . दोस्तों लोगो का इंटरनेट का सबसे ज़्यदा इस्तेमाल सोशल मीडिया पर होता है सबसे ज़्यदा audience social media पर active रहती हैं इसलिए कंपनी और ब्रांड , मार्केटिंग करने के लिए सोशल मीडिया का खूब इस्तेमाल करती है। आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा स्टेज सोशल मीडिया प्लेटफार्म बन चूके है। आप इंस्टाग्राम, फेसबुक, linkedin के माध्यम से हजारों लोगों तक अपने प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते है। आप सोशल मीडिया पर अपने प्रोडक्ट को प्रमोट या एडवरटाइज करके अच्छा खासे टारगेट ऑडियंस तक पहुंच सकते है। सोशल मीडिया मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा सोर्स माना जाता है।

2. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) –

SEO का मुख्य उदेश्य होता है की सर्च इंजन रिजल्ट में टॉप रैंक करना ताकि ज्यादा से ज़्यदा ट्रैफिक वेबसाइट पर आये। SEO की मदद से आप अपनी वेबसाइट को टॉप रैंक पर ला सकते हो टॉप रैंक करने से आपके वेबसाइट पर ज़्यदा लोग विजिट करिंगे जिससे आपके बिज़नेस का प्रॉफिट बढ़ेगा। यह एक ऐसा माध्यम है कि आप वेबसाइट पर सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करते हुए अपने द्वारा लिखे हुए कंटेंट को अपने टारगेट ऑडियंस तक पहुंचा सकते है। आप SEO के अंदर फोकस कीवर्ड और SEO गाइडलाइन के अनुरूप काम कर पाएंगे।

3. पे पर क्लिक (pay -par -click) –

PPC एक प्रकार की paid service है जिसमे किसी डिजिटल मार्केटिंग विज्ञापन कम्पनी को भुगतान करके सर्च इंजन पर विज्ञापन कराना होता जिससे आपके पास ज़्यदा ट्राफिक आये और ज़्यदा सेल्ल हो सके । 

4. कंटेंट मार्केटिंग –

किसी प्रकार का informative video,audio,image  or article जिसमे किसी कंपनी और ब्रांड्स के बारे में बताया गया हो कंटेंट मार्केटिंग कहते हैं ex – ब्लॉग ,वेबसाइट और यूट्यूब चैनल अदि।  

5. ईमेल मार्केटिंग  –

कंपनी और ब्रांड द्वारा ग्राहकों तक अपने प्रोडक्ट और सर्विस के बारे में ईमेल के जरिये संदेश भेजना ईमेल मार्केटिंग कहा जाता है इसमें समय समय पर कंपनी नए प्रोडक्ट ,सर्विस और ऑफर के बारे में direct email के जरिये अपने ग्राहकों को अपडेट करते हैं। उदाहरण – दोस्तों अपने अगर कभी ऑनलाइन शोपिंग की होगी तो आपको पता होगा वो कंपनियां आपको समय समय पर ईमेल भेजते हैं और अपने प्रोडक्ट ,सर्विस और डिस्काउंट ऑफर के बारे में बताते हैं इसी को ईमेल मार्केटिंग कहते हैं।  आज के समय में ईमेल मार्केटिंग के द्वारा आप अपने प्रोडक्ट को ईमेल करके प्रोमोट कर सकते है। ईमेल मार्केटिंग हर कंपनी के लिए बेहद जरूरी माना जाता है। आप कंपनी के प्रोडक्ट को नए कस्टमर के साथ पहुंचा सकते है। ईमेल मार्केटिंग आपको अपने कंपनी के ऑडियंस बेस को बढ़ा सकते है।

6. एफिलिएट मार्केटिंग –

अगर आप किसी कंपनी और ब्रांड्स के प्रोडक्ट और सर्विस को प्रमोट करते हो ,तो कंपनी द्वारा उस प्रोडक्ट सर्विस का कुछ प्रतिशत कमीशन आपको दिया जाता है। इसे एफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है। आप अफिलिएट मार्केटिंग ब्लॉग या वेबसाइट के माध्यम से भी कर सकते है। आप चाहे तो आप यूट्यूब चैनल के माध्यम से भी एफिलिएट मार्केटिंग करके डिजिटल तौर पर अपने प्रोडक्ट का मार्केट कर सकते है।

7. मोबाइल मार्केटिंग –

मोबाइल मार्केटिंग text msg ,website ,social media ,gmail और mobile apps  के जरिये किया जाता है। आज के समय में मोबाइल फ़ोन लाइफ की बेसिक जरुरत बन चूका है हर किसी के पास आज के समय में मोबाइल फ़ोन  जरूर होता है जब भी लोग फ्री और खाली समय मिलता है तो लोग मोबाइल फ़ोन के साथ बिताते हैं। ऐसे में मोबाइल फ़ोन ही कंपनियां के लिए सही जगह है अपने प्रोडक्ट और सर्विस को प्रमोट करने के लिए मोबाइल और वेबसाइट के जरिये कंपनियां विज्ञापन अपने ग्राहकों तक पहुँचती है।

8. यूट्यूब चैनल

यूट्यूब को ऐसे तो सबसे बड़ा वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म माना जाता है। आपके पास अगर कोई प्रोडक्ट है तो आप यूट्यूब चैनल के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते है। आप अपने या किसी इनफ्लुएंसर के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते है। इस तरह आप उस इनफ्लुएंस के ऑडियंस बेस से अपने लिए कस्टमर ढूंढ सकते हैं। आज के समय में अगर आपको डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा अपने प्रोडक्ट को पॉपुलर करना है तो आपको यूट्यूब चैनल के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग करनी होगी।

डिजिटल मार्केटिंग की विशेषता

  • आप डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा कई तरह की चीजों के बारे में आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते है जो शायद ही आप अन्य किसी तरह की मार्केटिंग के अंदर पता कर सकते है। जानने के लिए आप नीचे देखे।
  • इस डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा आप ऑन टाइम अपने अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक, हिस्ट्री और स्ट्रीमिंग से संबंधित हर तरह की जानकारी को प्राप्त कर सकते है।
  • आप डिजिटल मार्केटिंग के ट्रेंड के माध्यम से इस बात का भी पता कर सकते है कि आज के समय में लोग किस प्रोडक्ट को लेकर रुचि रख रहे है। डिजिटल मार्केटिंग आपको ऑन टाइम सोशल मीडिया से लेकर इंटरनेट पर ट्रेंड होने वाली सभी चीजों की जानकारी एक साथ प्रदान कर देता है।
  • डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा आप अपने टारगेटेड ऑडियंस के बारे में आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते है। अपने टारगेट ऑडियंस तक पहुंचने का डिजिटल मार्केटिंग सबसे अच्छा और सरल उपाय माना जाता है।
  • आप डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को कम ही समय में पॉपुलर बना सकते है। पॉपुलर होने के बाद अगर आपके प्रोडक्ट में दम होगा तो डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा आप प्रोडक्ट को ग्रो भी कर सकते है।
  • यह डिजिटल मार्केटिंग सबसे अच्छा और सबसे सस्ता तरीका है जिसके माध्यम से आप आसानी से अपने प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते है। आप डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा कम ही पैसे में अधिक लोगो तक पहुंच सकते हैं।

आज के समय में क्यों जरुरी है digital marketing :- 

दोस्तों इस डिजिटल मार्केटिंग के दौर से पहले की बात करे ट्रेडिशनल मार्केटिंग की तो पुराने समय में कंपनियां और ब्रांड्स अपने प्रोडक्ट और सर्विस का प्रचार -प्रसार (advertisement) ,प्रिंट विज्ञापन ,टेम्पलेट ,होल्डिंग ,पोस्टर ,अख़बार ,टेलीविज़न और रेडिओ की मदद से करती थी इसको ट्रेडिशनल मार्केटिंग कहते हैं। ट्रेडिशनल मार्केटिंग में विज्ञापनकर्ता को पता नहीं होता है की लोगो का reaction क्या है उसके विज्ञापन के प्रति और ना उसका विज्ञापन targeted customers तक पहुँचता था। डिजिटल मार्केटिंग में कंपनी और ब्रांड्स digital marketing तकनीकों से अपने targeted audience और customer तक आसानी से अपना विज्ञापन और सेवा प्रदान कर सकती है और साथ में अपने अनुसार अपने विज्ञापन को monitor or analytic भी कर सकता है। for example -google adwords ,facebook ads etc .

digital marketing आज के समय में इसलिए भी जरुरी हो गयी है की 80 % लोग किसी भी सामान और सेवा को खरीदने से पहले online market research जरूर करती है इसलिए सभी बिज़नेस, कंपनी और ब्रांड्स के लिए जरुरी है की वह अपने सामान और सेवा डिजिटल मार्केटिंग की मदद से अपने ग्राहकों तक पहुचाये। आज के सोशल मीडिया से भरे हुए वातावरण में डिजिटल मार्केटिंग का अहम हिस्सा हो गया है। डिजिटल मार्केटिंग के लिए सबसे अहम है इंटरनेट। डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा आप इंटरनेट के माध्यम से अपने क्लाइंट या अपने कंपनी और अपने बिजनेस के प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते हो। डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा आप अपने प्रोडक्ट को मार्केट कर पाने में सफल हो सकते है।

आज के समय में हर किसी के पास मोबाइल फ़ोन और इंटरनेट जरूर होता है। लोग अपना फ्री समय अपने मोबाइल फ़ोन में ही वियतीत करते है इसलिए लोगो तक पहुंचने का सबसे अच्छा माध्यम आज के समय में डिजिटल मीडिया ,डिजिटल मार्केटिंग है इसलिए भी यह जरुरी है। 

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे (advantage of digital marketing in hindi ) :-

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग के फायदों की बात करे तो digital marketing का सबसे बड़ा फायदा targeted audience या targeted customers तक कंपनी आसानी से अपने विज्ञापन और सेवा पंहुचा सकती है और उसे मॉनिटर भी आसानी से कर सकती है। 

कम लागत (less cost )

ट्रेडिशनल मार्केटिंग की तुलना में डिजिटल मार्केटिंग का कॉस्ट कम होता है अगर तरीके से और सही इनफार्मेशन के साथ digital marketing की जाय ,बस जरुरत होती है एक अनुभवी वयक्ति की जिसे डिजिटल मार्केटिंग का ज्ञान हो। 

 ज़्यदा लोगो तक पहुंचना –

डिजिटल मार्केटिंग के जरिये आप ज़्यदा से ज़्यदा लोगो तक अपने प्रोडक्ट और सर्विस के बारे में इनफार्मेशन आसानी से पंहुचा सकते हो, इसमें ना आपको कंही जाने की जरुरत है आप घर या ऑफिस में बैठे digital marketing कर सकते हैं। उदाहरण – website ,blog .

अपने विज्ञापन को आसानी से monitor करना –

बहुत सारे डिजिटल टूल उपलब्ध हैं जिनकी मदद से हम अपने विज्ञापन  को अपने हिसाब से मॉनिटर कर सकते हैं। 

समय की बचत (time saving ) –

दोस्तों आप अपने घर बैठे भी digital marketing कर सकते हैं जिससे आपके समय की काफी बचत होगी। 

दुनिया में किसी भी जगह पर कर सकते हो –

डिजिटल मार्केटिंग को आप दुनिया के किसी भी कोने में कर सकते हो घर बैठे काफी कम खर्चे में। 

ज़्यदा बिर्की के चांस – दोस्तों digital marketing में टार्गेटेड लोगो को अपना विज्ञापन दिखा सकते हो जिससे ज़्यदा चांस रहते है प्रोडक्ट और सर्विस के बिकने के या लोगो के खरीदने के। 

डिजिटल मार्केटिंग के नुकसान (disadvantage of digital marketing in hindi ) :-

दोस्तों हर किसी के चीज के फायदे और नुकसान दोनों होते है तो digital marketing के भी कुछ नुकसान है चलिए जानते है –

स्किल और ट्रेनिंग की जरुरत होती है 

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग करना इतना आसान भी नहीं होता है पहले digital marketing को भी सीखना पड़ता है। डिजिटल मार्केटिंग के टूल को सीखना पड़ता है ,सभी प्लेटफार्म के बारे जानना पड़ता है इसके लिए ट्रेनिंग और स्किल की जरुरत होती है। 

ज़्यदा कॉम्पीटिशन है 

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग के फील्ड में कम्पीटिशन काफी ज़्यदा है क्योंकि हर किसी के पास डिजिटल उपकरण है जिनकी मदद से हर कोई आसानी से digital marketing कर सकता है। 

नेगटिव फीडबैक 

अगर किसी ब्रांड के प्रोडक्ट और सर्विस से रिलेटेड कोई गलत फीडबैक मिलता है तो इससे ब्रांड पर बुरा असर पड़ता है लेकिन कस्टमर के लिए सही भी होता है क्वालिटी प्रोडक्ट और सर्विस मिलता है। 

डिजिटल मार्केटिंग के सिद्धांत क्या है?

डिजिटल मार्केटिंग के सिद्धांत कई तत्व पर मौजूद होते है, जानने के लिए नीचे देखे,

  • अपने दर्शकों को आकर्षित करे – डिजिटल मार्केटिंग करने के लिए सबसे पहले आपको अपने टारगेट ऑडियंस को अट्रैक्ट करना होगा। सबसे पहले स्टेज में आपको अपने टारगेट ऑडियंस को अपने प्रोडक्ट के बारे में अट्रैक्ट करना होगा।
  • दर्शको को एंगेज करे- आप जब अपने टारगेट ऑडियंस को अट्रैक्ट कर लेते है तो उसके बाद आपको अपने दर्शकों को एंगेज करना होगा। अपने दर्शकों को एंगेज करके आप अपने कस्टमर बेस को बढ़ा सकते हैं।
  • कस्टमर कन्वर्ट- अपने प्रोडक्ट के दर्शकों को कनवर्ट करके आप अपने ऑडियंस को कन्वर्ट कर सकते है। आप कन्वर्ट करके अपने कस्टमर बेस को बढ़ा सकते है। यह सबसे मुख्य सिद्धांत है जिस पर आप डिजिटल मार्केटिंग करते है।
  • सस्टेन- इस सिद्धांत में हम अपने प्रोडक्ट को अपने कस्टमर के पास कायम रख पाने की कोशिश करते है। आप इस सस्टेन के सिद्धांत में अपने कस्टमर बेस को अपने प्रोडक्ट के साथ मिला सकते है।

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए?

आप डिजिटल मार्केटिंग से कई तरीके से पैसे कमा सकते है, जानने के लिए नीचे देखे,

वेबसाइट डिजाइन करके पैसे कमाए

आपको अगर वेबसाइट डिजाइन का अच्छा ज्ञान है तो आप अपने क्लाइंट के लिए या अन्य कंपनी के लिए वेबसाइट को डिजाइन करके कर सकते हैं। आप वेबसाइट को डिजाइन करके भी काफी अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। आप चाहे तो आप इस काम को फ्रीलांसिंग के तौर पर भी कर सकते है। आज के समय में रोजाना ही लाखो वेबसाइट Google पर अपलोड की जाती है। इस वेबसाइट डिजाइनिंग में काफी पैसा है। आप एक वेबसाइट को 1 से 2 दिन में डिजाइन कर सकते है। आप इस तरीके से महीने में लगभग 30,000 से 40,000 रुपए की कमाई का होना जरूरी है।

मोबाइल मार्केटिंग

आज के समय में मोबाइल केवल सोशल मीडिया चलाने के लिए ही नही बल्कि डिजिटल मार्केटिंग के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। आप मोबाइल के द्वारा App Based Marketing, Gaming App Marketing, SMS Marketing, QR Code Marketing और Push Notification वाला काम करके भी मोबाइल मार्केटिंग कर सकते है। मोबाइल मार्केटिंग करने के लिए आपके मोबाइल फोन में डाटा कनेक्शन का होना जरूरी है। आपके पास अगर डाटा कनेक्शन है तो आप मोबाइल मार्केटिंग से महीने में आसानी से 20 से 30 हजार रुपए कमा सकते है।

यूट्यूब चैनल से पैसे कमाए

आप यूट्यूब पर एक चैनल बना सकते है। उस यूट्यूब चैनल के माध्यम से आप एक ऑडियंस बेस को प्राप्त करके महीने में लाखो रुपए कमा सकते है। आप चाहे तो आप प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते है। यूट्यूब चैनल के माध्यम से आप किसी कंपनी के लिए डिजिटल मार्केटिंग या स्पॉन्सरशिप करके अपने डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से महीने में आसानी से हजारों रुपए कमा सकते है।

EBook लिखकर बेचना और पैसे कमाना

जब कोई व्यक्ति इंटरनेट पर अपनी किताबें लिखता है तो उसे ही Ebook कहते है। काफी लोग जो किताब लिखने के शौकीन होते है वो ऑनलाइन ही किताब को लिखकर और बेचकर पैसा कमा सकते है। आप EBook को बेचकर पैसा कमा सकते हैं। आप Ebook को बेचकर लाइफटाइम पैसा कमा सकते है।

SEO करके पैसे कमाए

आज के समय में आप SEO Expert बन कर भी पैसा कमा सकते है। आप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन अपने text कंटेंट पर, फोटो पर, वीडियो पर करके उन कंटेंट को रैंक करवाकर प्रोडक्ट को प्रमोट करा सकते है। आप आज के समय में SEO करके आसानी से महीने में 60 से 70 हजार रुपए प्रति महीने कमा सकते है। आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग के अंदर SEO का काफी महत्व है।

क्या आप डिजिटल मार्केटिंग में करियर बना सकते हो :-

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग आज के समय में मार्केटिंग का सबसे बेस्ट तरीका है और अपने वाले समय में digital marketing ओर ज़्यदा ग्रोथ करने वाला है। इंटरनेट उपयोगकर्ता की संख्या निरंतर बढ़ रही है मतलब डिजिटल मार्केटर की डिमांड भी बढ़ रही है धीरे -धीरे सभी बिज़नेस और ब्रांड्स digital marketing की ओर बढ़ रहे हैं।  बात करे इंडिया की तो यहाँ डिजिटल मार्केटिंग का स्कोप काफी ज़्यदा है आज के समय में ,क्यूंकि इंडिया में डिजिटल मार्केटिंग अभी अपने शुरुआती दौर में है तो ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग करियर का एक अच्छा साधन हो सकता है।

digital marketing growth rate in india
image source : medium.com

दोस्तों ग्राफ में आप देख सकते हो इंडिया में ऑनलाइन इंटरनेट यूजर की संख्या कितनी तेजी से बढ़ रहे हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हो की digital marketing का आने वाला समय इंडिया में केसा हो सकता है। 

डिजिटल मार्केटिंग कैसे शुरू करे या डिजिटल मार्केटिंग कैसे शुरू कर सकते है ?

दोस्तों digital marketing शुरू करने के लिए आपको इसे सीखना होगा digital marketing करने के लिए आपको निम्न स्किल सीखनी होगी। 

फंडामेंटल ऑफ़ डिजिटल मार्केटिंग ,वेब डेवलपमेंट ,सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के बारे में ,सोशल मीडिया मार्केटिंग क्या है कैसे काम करता है,एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में ,कंटेंट मार्केटिंग क्या है कैसे काम करता है ,ईमेल मार्केटिंग क्या है कैसे काम करता है ,टीम मैनेजमेंट स्किल्स ,डाटा एनालिसिस ,रिपोर्टिंग अदि चीजों को आपको सीखना प्रैक्टिकल नॉलेज लेना होगा तभी आप एक सफल डिजिटल मार्केटर बन सकते हो। 

2023 में आप डिजिटल मार्केटिंग में कितना पैसा कमा सकते है?

वर्ष 2023 के अंदर आप डिजिटल मार्केटिंग के अंदर काफी पैसा कमा सकते है। यह पैसा आपके अनुभव और एक्सपर्टाइज पर निर्भर करता है। इस वर्ष 2023 की बात करे तो डिजिटल मार्केटिंग में आज 25 लाख से भी अधिक नौकरी मौजूद है। आप आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग के अंदर 20 हजार प्रति महीने से लेकर 20 लाख रुपए प्रति महीने तक कमा सकते है। डिजिटल मार्केटिंग का लेबल अभी समय के साथ बढ़ ही रहा हैं। आप डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से आने वाले समय में और अधिक पैसा कमा सकते है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स क्या होता है ?,Digital marketing course in hindi :-

दोस्तों digital marketing कोर्स में SEO .PPC ,social marketing ,email marketing ,mobile marketing ,content marketing के बारे में details में बताया जाता है और साथ में आपको website ,blog ,mobile app कैसे बनाते है, कैसे ad network पर अपना campaign चलाते हैं ,  कैसे विज्ञापन को monitor करते हैं ये सब कुछ सिखाया जाता है। digital marketing का course 2 -3 महीने से लेकर 1 साल या 2 साल तक भी हो सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस कितनी होती है दोस्तों ये निर्भर करता है की कहाँ से आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करते हो यह 100 रूपए से लेकर 50 हजार रूपए तक भी हो सकता है। यह आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके  सकते  हो ,कुछ टॉप कंपनियां है जो आपको डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के बाद सर्टिफिकेट भी देती है कुछ लोग ऑनलाइनडिजिटल मार्केटिंग कोर्स भी बेचते है  जिसमे वह वीडियो,ऑडियो और आर्टिकल के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग के बारे में सिखाते हैं। 

क्या आपको डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स खरीदना चाहिए या नहीं :-

दोस्तों अब बात करते हैं की क्या आपको डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स buy करना चाहिए या नहीं ,अपने बहुत सारे लोग youtube  ,facebook etc पर देखे होंगे जो आपको बोलते हैं की हमारा कोर्स खरीदो हम आपको डिजिटल मार्कटिंग के बारे में सब कुछ सिखायेंगे ,दोस्तों मेरे experience से इन कोर्स में कोई भी ऐसी नयी टॉपिक के बारे में नहीं बताया जाता है जो आपको इंटरनेट पर न मिले सब कुछ इंटरनेट पर उपलब्ध है बस आपको थोड़ा रिसर्च करना पड़ेगा सब कुछ आपको इंटरनेट पर ही मिल जायेगा हाँ अगर आप किसी टॉप कंपनी के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करते हो जंहा से आपको सर्टिफिकेट दिया जाता है तो यह आपको जॉब लेने में हेल्प कर सकता है। 

तो दोस्तों हमारी digital marketing के ऊपर यह पोस्ट आपको किसी लगी,आपके कोई सवाल ,है तो इसके बारे में कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे हम कोशिस करिंगे आपके सवालो के जबाब जल्द से जल्द दिए जाय। 

डिजिटल मार्केटिंग से रिलेटेड ज़्यदातर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

डिजिटल मार्केटिंग से आप क्या समझते हैं समझाइए?

ऑनलाइन इंटरनेट और डिजिटल उपकरणों जैसे कंप्यूटर ,मोबाइल अदि के माद्यम से किसी प्रोडक्ट और सर्विस का प्रचार-प्रसार या प्रमोट करना डिजिटल मार्केटिंग कहलाता है इसको ऑनलाइन मार्केटिंग ,इंटरनेट मार्केटिंग और वेब मार्केटिंग भी कहा जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखे ?

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग आप ऑनलाइन इंटरनेट की मदद से सीख सकते जैसे यूट्यूब वीडियो से ,ब्लॉग आर्टिकल से जहाँ आपको काफी सारा कंटेंट डिजिटल मार्केटिंग से रिलेटेड मिल जायेगा आप आसानी से डिजिटल मार्केटिंग सीख सकते हो या अगर आपके पास पैसे है तो आप किसी अच्छे इंसीट्यूट से डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकते हो।

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाये ?

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कमाने के बहुत सारे तरीके है जैसे कंटेंट राइटिंग ,ब्लॉग ,वेबसाइट डिज़ाइन ,seo ,सोशल मीडीया विज्ञापन ,और अन्य कई तरीके है जहाँ से आप पैसा कमा सकते हो।

डिजिटल मार्केटिंग में क्या सिखाया जाता है?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स में SEO .PPC ,सोशल मीडिया मार्केटिंग ,ईमेल मार्केटिंग ,मोबाइल मार्केटिंग ,कंटेंट मार्केटिंग अदि के बारे में details में बताया जाता है।

यह भी पढ़ें –

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button