BusinessesNetwork MarketingNetwork Marketing Books

बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान विथ हाई रिटर्न्स In Hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान जहां आपको हाय रिटर्न मिले,तो अगर अभी पैसा इन्वेस्टमेंट की सोच रहे हो और आप भी अपना पैसा ऐसी जगह इन्वेस्ट करना चाहते हो जहाँ आपको हाई रिटर्न मिले तो यह पोस्ट आपके लिए है तो जानने के लिए आर्टिकल को पढ़े रहे।

दोस्तों यह तो हम सभी जानते हैं इन्वेस्टमेंट कितना जरूरी है दोस्तों अगर आपने भी Rich Dad, Poor Dad बुक पढ़ी है उसमें बताया गया है कि ज्यादा पैसा कमाना समस्याओं का हल नही है बल्कि हम जितने पैसे कमाते हैं उन पैसों से ही बचत करना समस्याओं का समाधान है इसी लिए इन्वेस्टमेंट ज़रूरी है और आजकल इन्वेस्टमेंट के कई सारे प्लान मौजूद है लेकिन हमे इनकी नॉलेज न होने के कारण हम इनसे वंचित रह जाते है और इनका फायदा नहीं उठा पाते हैं अगर आप भी कोई इंवेस्टमेंट प्लांट ढूंढ रहे है तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है आपको हम आज के इस आर्टिकल में हम आपको इन्वेस्टमेंट प्लान के बारे में बताएंगे जहां आपको अच्छा खासा रिटर्न मिले।

इन्वेस्टमेंट प्लान्स क्या है ?

महत्वपूर्ण बिन्दू

इनवेस्टमेंट प्लान एक ऐसा प्लान है जिसमें एक इंसान को अपने फ्यूचर के आर्थिक रूप को सुधारने के लिए पैसे इकट्ठा करने की सुविधा प्रदान करते हैं। इन्वेस्टमेंट प्लान में अलग-अलग प्रकार के फंड के ऑप्शन दिए जाते हैं। साथ ही कुछ स्कीम भी दिए जाते हैं जिसमें अलग-अलग और समय समय पर आपको निवेश करना होता है। जिसकी राशि लोगों को भविष्य के लिए धन इकट्ठा करने में काफी मदद करती है। वह भी निवेश पर मिलने वाले रिटर्न की राशि से फाइनेंशियल मदद भी मिलती है।

यह एक ऐसा प्लान है जिसकी मदद से लोगों के अंदर पैसा जमा करने की काफी अच्छी आदत साथ ही साथ प्रोत्साहन देता है। इंसान अपने हिसाब से जोखिम को देख कर उसके हिसाब से इन्वेस्टमेंट प्लान चुन सकता है। इन्वेस्टमेंट प्लान की मदद से एक व्यक्ति अपने परिवार को एक फाइनेंशियल सिक्योरिटी देने में मदद करता है। आप जितना भी कमा रहें है उसे जमा करते हैं उसे दुगना करने का काम यह कुछ इन्वेस्टमेंट प्लांस करते हैं।

इन्वेस्टमेंट प्लान्स के प्रकार

इन्वेस्टमेंट प्लान विथ हाय रिटर्न

  • Mutual Funds Investment
  • Real Estate Investment
  • FD Investment
  • NPS Investment
  • PPF Investment
  • Stock Investment
  • RD Investment
  • Government Bonds Investment
  • Corporate Bonds Investment

अब आपको हम बताएंगे इन्वेस्टमेंट प्लांस कितने प्रकार के होते हैं। तो आपकी जानकारी के लिए बता दे की investment प्लान 3 भागों में बांटे गए हैं। वह भी उनके जोखिम के आधार पर उन्हें तीन श्रेणी में बांटे गए हैं। हमेशा एक इन्वेस्टर को यही सलाह दी जाती है कि जब भी वह अपने इन्वेस्टमेंट से जुड़े कोई भी फैसला लें। तो उसमें हमेशा इन्वेस्टमेंट प्लान से जुड़े जोखिम के बारे में जान कर सोच समझ कर ही ले। तो चलिए जानते हैं जोखिम के हिसाब से तीन इन्वेस्टमेंट प्लान कौन-कौन से हैं।

कम जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट प्लान्स

सबसे पहले है कम जोखिम वाली इन्वेस्टमेंट प्लान। नाम सुनते ही आप लोग को यह पता चल ही रहा होगा कि कम जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट प्लांस वो प्लान होते है। जिसमें काफी कम जोखिम या फिर नुकसान देखने को मिलता है। साथ ही एक स्टेबल और अच्छा रिटर्न भी मिलता है। यह इनवेस्टमेंट प्लेन उन लोगों के लिए सही है जो की निवेश पोर्टफोलियो में कम रिस्क और गारंटी रिटर्न वाले इन्वेस्टमेंट ऑप्शंस फॉर ढूंढ रहे हैं। कम जोखिम वाले प्लान जैसे पीपीएफ, सोना, बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट, राष्ट्रीय पेंशन योजना और भी कई सारे योजना इसमें शामिल है।

मध्यम-जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट प्लान्स

दूसरा नंबर आता है मीडियम या मध्यम जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट प्लान। तो यह एक काफी बैलेंस और काफी सारे इन्वेस्टमेंट प्लांस के ऑप्शन देता है। दो तरह के उद्देश्य यह इन्वेस्टर के पूरे करता है। एक तो उन्हें निवेश करने पर अच्छा रिटर्न प्रदान करता है जिससे उनकी वित्तीय में वृद्धि होती है। साथ ही यह मार्केट की अनस्टेबलेटी को भी काफी संभालता है। मध्यम वर्ग के इन्वेस्टमेंट प्लान ऐसे प्लान होते हैं। जिसमें इन्वेस्टर्स को लोन और इक्विटी सिक्योरिटीज के कांबिनेशन के साथ-साथ निवेश पोर्टफोलियो में अलग-अलग तरह के मध्य जोखिम के साथ एक अच्छा रिटर्न देने का मौका देता है। मध्य जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट योजना जैसे मासिक आय योजना, आर्बिट्राज फंड और हाइब्रिड ऋण जैसे प्लांस शामिल है।

हाई-जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट प्लान्स

आखिरी और सबसे हाई जोखिम प्लान होते है। यह प्लांस ऐसे प्लान है जिसमें इन्वेस्टर को काफी ज्यादा उतार चढ़ाव देखने को मिलता है। हाई रिस्क वाले इनवेस्टमेंट प्लान ज्यादा जोखिम के साथ साथ ज्यादा रिटर्न भी मिलने का मौका भी मिलता है। यह प्लांस उनके लिए है जिनको हाई रिस्क झेलने की शक्ति हो और लंबे समय के लिए इनकम जमा कर के अच्छा रिटर्न भी मिलता है। इन प्लांस को लेने से पहले आपको इसके सभी चीजों के बारे में अच्छे से जान लें।

Mutual Funds –

म्यूच्यूअल फंड एक ऐसा फंड होता है जिसमें कई बड़ी कंपनियां कई इन्वेस्टर्स से पैसा जमा कराती है और स्टॉक, ब्रांड और शॉर्ट टर्म डेट जैसी सिक्योरिटीज में पैसे invest करती है आज के समय में भारत के कम से कम 25 से 30% लोग मैचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट करते हैं और ज्यादा से ज्यादा रुपए कमा रहे हैं अगर आप भी इन्वेस्टमेंट की सोच रहे हैं और हाई रिटर्न लेना चाहते हैं तो आपके लिए भी mutual फंड्स एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। मैचुअल फंड में कई प्रकार के इन्वेस्टमेंट है जैसे Stock market Mutual Funds,DEBT Mutual Funds,REAL Estate Mutual Funds अदि। EQUITY म्यूच्यूअफंड्सड्स आदि mutual funds मौजूद है।

मैचुअल फंड में आप 500 से लेकर लाखों तक का इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं मैचुअल फंड में आप फोन एप्लीकेशन से और वेबसाइट से मैसेज कर सकते हैं अगर आप किसी ऐप से इन्वेस्टमेंट करना चाहता है मैचुअल फंड में तो आप Groww app से भी कर सकते हैं। Mutual Funds में इन्वेस्टमेंट करने के लिए आपको एक ऑप्शन SIP भी मिल जाता है जिसमें आप महीने का एक निश्चित राशि जमा कर सकते हैं।

Real Estate –

रियल स्टेट बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान विथ हाई रिटर्न्स वाला प्लान है। दोस्तों रियल स्टेट का मतलब होता है जमीन या घर बेचने का कारोबार जिसमें मैनेजमेंट ऑपरेशन और इन्वेस्टमेंट में डील होता है। बड़े शहरों जैसे दिल्ली मुंबई में रियल एस्टेट करोड़ों का बिजनेस बन चुका है। रियल एस्टेट बिजनेस में आपको 20 लाख तक के फ्लैट भी मिलेगा और करोड़ों अरबों रुपए के अपार्टमेंट भी आपको रियल एस्टेट में मिलेंगे। रियल स्टेट में लोगों की जरूरत उनके आराम को नजर में रखकर घर बनाए जाते हैं यानी कि लोगों के comfort zone के अकॉर्डिंग ताकि लोगों को ऐसे घर ज्यादा पसंद आए। आप रियल स्टेटस के स्टॉक में investment कर सकते है।

FD (फिक्स डिपाजिट) Investment –

दोस्तों एफडी उन लोगों के लिए बेहतर विकल्प होता है जो जोखिम यानी कि खतरे से बचना चाहते हैं जोखिम से बचने वाले इन्वेस्टर के लिए फिक्स डिपाजिट एक अच्छा इन्वेस्टमेंट होता है आपकी आपको डिपॉजिट पर सुरक्षित रिटर्न देती है। दोस्तों फिक्स डिपाजिट एक ऐसा ऑप्शन होता है जिस में मार्केट के उतार चढ़ाव का कोई असर नहीं पड़ता है।

अगर आप भी खतरे से बचना चाहते हैं और इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं यानी कि बिना खतरे के इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं तो fd आपके लिए भी एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है।

PPF(Public Providing Found) –

दोस्तों पीपीएफ भारत का एक भरोसेमंद इन्वेस्टमेंट प्लान है PPF को Public Providing Found कहते है। पीपीएस में आप सिर्फ हर वर्ष 500 से शुरू कर सकते हैं पीपीएफ का पीरियड 15 वर्षों का होता है जिसमें कोई समस्या आ जाने पर आप पैसों की निकासी बीच में भी कर सकते हैं। पीपीएफ में अगर आपको बीच में कोई इमरजेंसी पड़ जाते हैं तो आप अपना अकाउंट बंद करवा सकते हैं। पीपीएस में अगर आप के 2 साल कंप्लीट हो जाते हैं और इन 2 सालों में आप दो लाख तक का निवेश कर चुके हैं तो 25 परसेंट तक का loan पीपीएफ के द्वारा ले सकते हैं।

पीपीएफ को आप 15 साल से ज्यादा भी बढ़वा सकते हैं 15 साल कंप्लीट होने पर आप इसकी अवधि 5 साल और बनवा सकते हैं इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा।

NPS(नेशनल पेंशन सिस्टम ) –

दोस्तों एनपीएस सरकारी इन्वेस्टमेंट में से एक है जो की पेंशन के रूप में दी जाती है अगर आप टैक्स से बचना चाहते हैं और अपने रिटायरमेंट का प्लान करना चाहता है तो एनपीएस आपके लिए बहुत बेहतरीन ऑप्शन है इतने बहुत ही कम रिस्क होता है। NPS को National Pension Scheme कहते है यह स्कीम 2004 में शुरू की गई थी जब यह स्कीम सिर्फ सरकारी कर्मचारियों के लिए ही थी लेकिन 2009 से यह स्कीम सभी व्यक्तियों के लिए है यानी कि भारत का कोई भी व्यक्ति स्कीम से जुड़ सकता है। यह एक सरकारी योजना है इस योजना को 18 से 65 वर्ष का कोई भी व्यक्ति शुरू कर सकता है।

एनपीएस में लगाए गए पैसों को यानी कि आपके फंड को फंड बांड, सरकारी सिक्योरिटी स्टाफ और अन्य इन्वेस्टमेंट विकल्पों में इन्वेस्ट किए जाते हैं। एनपीएस की लॉक इन अवधि आयु के द्वारा निर्धारित की जाती है क्योंकि एनपीएस में जब तक इन्वेस्टर की उम्र 60 साल तक नहीं हो जाती जब तक यह स्कीम मैच्योर नहीं होती है।

बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान विथ हाई रिटर्न्स in Hindi

Stock मार्किट –

दोस्तों स्टॉक किसी कंपनी में हिस्सेदारी को दर्शाता है स्टॉक लॉन्ग टर्म इन्वेस्टेड के लिए ज्यादा रिटर्न प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक है यानी कि अगर आप स्टॉक में इन्वेस्ट करते हैं तो इसमें ज्यादा फायदा तब होगा जब आप इसको long-term के लिए इस्तेमाल करते हैं लेकिन स्टॉक में मार्केट के उतार-चढ़ाव का ज्यादा खतरा रहता है यानी इसमें जोखिम ज्यादा होता है और स्टॉक मार्केट में आपके पैसों को आप कभी भी निकाल सकते हैं इसमें खतरा stock मार्केट के उतार-चढ़ाव पर निर्भर करता है। लेकिन अगर एक बार मार्केट रफ्तार पकड़ता है तो आपको एक ही बारी में काफी ज्यादा बेनिफिट भी होता है इसके लिए आपको मार्केट की थोड़ी बहुत समझ होनी चाहिए।

RD इन्वेस्टमेंट प्लान –

दोस्तों आरडी भी इन्वेस्टमेंट के लिए एक अच्छा ऑप्शन है RD को आप सिर्फ ₹100 से शुरू कर सकते हैं लेकिन RD में आपको एक निश्चित राशि तय करनी होती है यानी कि आपको एक अमाउंट फिक्स करना होता है कि आप हर महीने कितना पैसा जमा कर सकते है आपको हर महीने उतना ही पैसा जमा करना होता है जितना आपने निश्चित किया हुआ है।

RD की अवधि 5 वर्ष होती है RD में लोन की सुविधा उपलब्ध होती है लेकिन इसके लिए आपको कम से कम 1 साल तक पहले इंस्टॉलमेंट देनी होती है उसके बाद ही आप लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। RD में आपको 5.8%ब्याज मिलता है। आरडी अकाउंट को आप 3 साल में भी बंद कर सकते हैं। RD में आपको नॉमिनी हो और ट्रांसफर की सुविधा भी उपलब्ध होती है। अगर आप RD को 5 साल से पहले बंद कर आना चाहते हैं तो आपको ब्याज का पैसा नहीं दिया जाएगा आपको सिर्फ सेविंग अकाउंट पर मिला ब्याज ही दिया जाएगा

आरडी अकाउंट में आपको बिल्कुल भी रिस्क नहीं होता है अगर आप बिना रिस्क के इन्वेस्टमेंट आप इस बांड को करना चाहते हैं तो आरडी अकाउंट आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन है।

Government Bonds –

दोस्तों गवर्नमेंट बॉन्ड योजना के अंतर्गत कोई व्यक्ति अगर अपने पैसे इसमें इन्वेस्ट करता है तो उसे सालाना यानी कि हर साल 7.75% की दर से ब्याज दिया जाएगा। दोस्तों यह योजना सरकार द्वारा शुरू की गई है इसलिए यह बहुत ज्यादा सुरक्षित है इस योजना के अंतर्गत आपको बांड खरीदने होंगे वहीं बॉक्स की Funds हजार रुपए से शुरू की गई है यानी कोई भी आम आदमी इस योजना का लाभ उठा सकता है और अपने पैसों की इस योजना में इन्वेस्टमेंट कर सकता है। इन बॉन्ड को खरीदने के लिए आपको भारतीय होना जरूरी है यानी कि आप भारत के नागरिक है तभी आप इस बोन को खरीद सकते हैं।

स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड की ब्रांच और इस योजना से जुड़े बैंकों के माध्यम से आप यह बांड खरीद सकते हैं।

Corporate Bonds –

दोस्तों कॉर्पोरेट बॉन्ड को कंपनियां अपने छोटे मोटे खर्चे के लिए जारी करती है। यह कंपनियां बैंकों से भी लोन ले सकते लेकिन उसकी तुलना में बांड जारी करना अधिक सस्ता पड़ता है इसी वजह से कंपनियां कॉरपोरेट बॉन्ड शुरु करती है इसी वजह से कंपनी पैसे जुटाने के लिए कॉर्पोरेट बॉन्ड के विकल्प पर अधिक ज्यादा जोर देती है।

दोस्तों कॉर्पोरेट बॉन्ड बैंक एफडी की तुलना में ज्यादा बेहतर है क्योंकि इस पर कंपनियां आमतौर पर अधिक से अधिक ब्याज देती है यानी कि अगर आप fd की सोच रहे हैं और आप ज्यादा ब्याज लेना चाहते हैं तो कॉर्पोरेट बॉन्ड आपकेलिए ज्यादा अच्छा ऑप्शन है। दोस्तों गवर्नमेंट बॉन्ड की तुलना में कॉर्पोरेट बॉन्ड अधिक रिटर्न देने वाला ऑप्शन है।

बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान कैसे चुनें?

आपको हम बताएंगे कि जब भी आपको इन्वेस्टमेंट प्लान चुन रहे हो। तो आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए तो चलिए जानते हैं उन कुछ बातों के बारे में।

  • Goal पता होना जरुरी है – आपकी फाइनेंशली क्या-क्या खर्च या फिर ज़रूरतें हैं उसके बारे में आपको पता होना चाहिए। ताकि उसकी मदद से ही आप खर्चों के हिसाब से एक अच्छा प्लान चुन सके।
  • एक स्ट्रेटजी या प्लान जरुर बनाए – आपको हमेशा अपनी जरूरत के हिसाब से एक अच्छा इन्वेस्टमेंट प्लान चुनने की स्ट्रैटेजी बनानी चाहिए। पॉलिसी के टाइम पीरियड हम लोगों पर कितने लोगों की जिम्मेदारी है और कौन सा खर्चा किस समय आएगा। वह सब ध्यान में रखकर ही एक अच्छा इन्वेस्टमेंट प्लान चुनना चाहिए। ताकि आपको जरूरत पड़ने पर उस पॉलिसी पर रिटर्न मिलना चाहिए।
  • सुविधाओं की तुलना करें – आप जिस भी इन्वेस्टमेंट प्लान में निवेश करना चाहती हूं जरूरत है कि उससे पहले आप बाकी सारी उसकी सुविधाओं के बारे में जान ले। जैसे कवर, राइडर्स, रिटर्न पे ओवर, प्रकार आदि बाकियों इन्वेस्टमेंट प्लान से तुलना कर के देखें कि किसका सबसे ज्यादा अच्छा है। और तभी अपने लिए एक अच्छा इन्वेस्टमेंट प्लान चुने।
  • डायवर्सिफाई इन्वेस्टमेंट – दोस्तों आपको बता दें कि डायवर्सिफाई इन्वेस्टमेंट का मतलब होता है कि आप केवल एक इन्वेस्टमेंट प्लेन में निवेश करने की जगह। एक से ज्यादा इनवेस्टमेंट प्लान को चुने इससे आपको काफी फायदा मिल सकता है। इसलिए हमेशा एक डायवर्सिफाइड पोर्टफोलियो में जाने के लिए सलाह दी जाती है।
  • समय-समय पर अपने इन्वेस्टमेंट को चेक करते करें। यदि आपको एक अच्छा इन्वेस्टमेंट प्लान चुनना हो। तो आप समय-समय पर इन्वेस्टमेंट प्लान के बारे में जानते रहे कि उसमें क्या नया आया है।

निष्कर्ष – दोस्तों उम्मीद करता हूं आज के इस आर्टिकल में आपको काफी कुछ जानने को मिला होगा, अगर फिर भी आप इस से रिलेटेड कोई क्वेश्चन पूछना चाहते हैं तो आप कमेंट में पहुंच सकते हैं।

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button